Feeds:
पोस्ट
टिप्पणियाँ

Posts Tagged ‘सबूत’

वे जो भी कहते हैं

चुपचाप मान लो

हुक्मरान सबूत नहीं देते।

सबूत नागरिकों को देने पड़ते हैं

उन्हें दिखाना पड़ता है हर मौके-बेमौके

प्रमाणपत्र

नागरिक होने का,मतदाता होने का,भारतीय

होने का

पते का,बैंक खाते का,कर अदायगी का

जन्म का,जाति का,शिक्षा का,गरीबी का

मकान का,दुकान का,खेत का,मजूरी का

चरित्र का,नौकरी का,सेवानिवृत्ति का

और कई बार खुद हाजिर होकर

बताना पड़ता कि आप खुद आप हैं

और जिंदा हैं।

सबूत देते रहना

नागरिक होने की नियति है

पर हुक्मरानों की बात कुछ और है

दाल में भले कुछ काला हो

उनका एलान या बयान भर काफी है

उस पर सवाल मत उठाओ

वरना संदिग्ध करार दिए जाओगे

तुम्हारे देशप्रेम पर शक किया जाएगा

फिर देशभक्ति का सबूत कहां से लाओगे?

  • राजेन्द्र राजन
  • (साभार- ‘गांव के लोग’)
Advertisements

Read Full Post »

%d bloggers like this: